Bahut mahngi hui ab tho wafa

Bahut mahngi hui ab tho wafa 



बहुत महंगी हुई अब तो वफ़ा.. लोग कहाँ मिलते है 
जो सच्चा प्यार करें, मोहब्बत तो बन गई है अब सजा..
आशिक कहा मिलते है, जो संग संग इश्क का दरिया पार करे !

Post a Comment

0 Comments